Hindimehelp की सक्सेस स्टोरी / सक्सेसफुल ब्लॉगर की कहानी

hindimehelp की सक्सेस स्टोरी

हैलो दोस्तों आप सभी का एक बार फिर  से  www.hindiuse.in में बहुत बहुत स्वागत हैं आज मै आप के लिए एक मोटिवेशनल स्टोरी लेके आया हूँ जो रियल लाइफ स्टोरी हैं। आप लोगो में से ज्यादातर लोग Rohit Mewada जी के नाम से परचित होंगे , जी हाँ मै बात कर रहा हूँ  www.HMH.pe के फॉउंडर रोहित जी की ,आज मै आप को इस पोस्ट में ” hindimehelp की सक्सेस स्टोरी ” बताने जा रहा हूँ।

दोस्तों हिन्दी blogging की दुनियाँ में रोहित जी का नाम काफी लोकप्रिय हैं। www.hindimehelp.com पर आपको SEO ,WordPress , Blogging  से रिलेटेड पोस्ट मिलेगी। hindimehelp वेबसाइट को बनाने के लिए रोहित जी ने काफी मेहनत की हैं तब जा कर उनकी वेबसाइट आज इतनी लोकप्रीय हैं।

इसे भी पढ़े :-Normal earphone ko wireless earphone me kaise convert kare

कौन हैं Rohit Mewada

रोहित ने 12th तक की पढ़ाई शारदा विद्या मंदिर ,सीहोर से की और  रोहित ने 12th की पढ़ाई पूरी करने के बाद Gyan Ganga institute of  management & Engineering   कॉलेज में एडमीशन ले लिया  उन्होंने मैकेनिकल ब्रांच सेलेक्ट किया था । रोहित हमेशा से ही पढाई  में एवरेज थे।  पर बचपन से ही उनकेअंदर कुछ अगल करने की चाह थी।  एक दिन कॉलेज से घर आने के बाद उन्होंने अपने घर वालो से बोला की मुझे एक लैपटॉप चाहिए। पर रोहित के पापा ने साफ मना कर दिया पर रोहित भी कहा हार मानने वालो में से थे उन्होंने भी ज़िद पकड़ ली की उन्हें लैपटॉप चाहिए मतलब चाहिए।

आखिर उनके घर वालो को हार मान कर एक लैपटॉप लेना ही पड़ा , रोहित लैपटॉप घर में आने से काफी खुश थे।  लेकिन उन्हें कुछ ही दिनों में समझ आ गया की उनकी जिद बेकार थी लैपटॉप का कोई खास  यूज़ उनकी लाइफ में अभी नहीं हैं। पर रोहित को कहा पता था की कुछ ही सालो बाद यही लैपटॉप उनकी लाइफ बदलने वाला हैं।

इसे भी पढ़े :-05 तरीके खुद को प्रेरित करने के By Shashi k.

 कब शुरू की ब्लॉगिंग

ज्यादा तर लोग लैपटॉप का उपयोग जहाँ फेसबुक और YouTube चलाने   में करते हैं। रोहित ने ऐसा बिलकुल भी नहीं किया उनका इंट्रेस्ट था इंटरनेट में , उन्होंने इंटरनेट में कुछ सालो तक  बहुत कुछ सीखा उसके बाद उन्होंने blogger.com में एक  वेबसाइट  बनाई।  blogger.com google की फ्री सर्विस हैं। जब  शुरू में रोहित ने अपना ब्लॉग बनाया था तो उन्हें पता ही नहीं था की इससे पैसे भी कमा सकते हैं। दो साल तक रोहित ने सिर्फ अपने इंट्रेस्ट के कारण ब्लॉगिंग  की दो साल बाद उन्हें पता चला की ब्लॉग से इनकम भी हो सकती हैं। रोहित ने फिर ब्लॉग से इनकम करने का पूरा प्रोसेस पता किया और लगातार अपने ब्लॉग पर मेहनत करते  रहे उनके ब्लॉग की पहली इनकम Adfly से पुरे 5 $ की हुई थी।

शुरुवात में तो रोहित अपने दोस्तों और परिचितों को ब्लॉग के बारे में नहीं बताते थे उनको लगता था की मै मकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई  कर रहा हूँ और ब्लॉग चलता हूँ तो लोग मुझ पर हसेंगे ,पर देखिए आज वो एक सक्सेसफुल ब्लॉगर हैं।

रोहित ने आगे चलकर एक नई वेबसाइट बनाने का सोचा rnhckr.com जो की आज नहीं हैं। इस वेबसाइट के जरिये रोहित ने सफलता की एक और सीढ़ी चढ़ी। रोहित से लोग अक्सर पूछा करते थे की आखिर उन्होंने यह वेबसाइट कैसे बनाया, और रोहित को लगा की जो उनसे सवाल पूछते है उनकी हेल्प करना चाहिए। बस यही से उनके दीमाक में www.hindimehelp.com का आईडिया आया।

इसे भी पढ़े :-हिन्दी प्रेणास्रोत कहानी BY SHASHI K

hindimehelp. com कब बना

hindimehelp.com डोमिन को 20 -09 -2014 को रोहित ने रजिस्टर किया था, और 20 -02 -2015 को इस ब्लॉग की शुरुवात की आज यह ब्लॉग काफी लोकप्रिय हो चूका हैं और रोहित जी सबके चहिते  बन चुके हैं।  जब रोहित ने इस ब्लॉग को शुरू किया तो काफी प्रॉब्लम हुई जिसमे सबसे बड़ी प्रॉब्लम यह थी की उनकी इंजीनियरिंग की पढ़ाई कम्प्लीट हो चुकी थी और उन्हें अपने ब्लॉग या फिर जॉब में से किसी एक को चुनना था। उन्होंने आखिर कार ब्लॉग पर फोकस किया। जिसका नतीजा आज सभी को  पता ही हैं।

रोहित के लिए यह समय बहुत कठिन था उन्हें अपने घर वालो को भी समझना था की वो जॉब नहीं करना चाहते और ब्लॉग में ही अपना करियर बनाना चाहते हैं। उन्होंने घर वालो को समझया पर घर वाले तैयार नहीं हुए।घर वालो का कहना था की उन्हें जॉब करना चाहिए। पर रोहित  भी कहा हार मानने वालो में से थे उन्होंने घर वालो से एक साल का टाइम माँगा और उस एक साल में ही उन्होंने www.hindimehelp.com पर काफी मेहनत की और उनकी मेहनत का फल भी उन्हें मिला। आज हिंदी में हेल्प जिस मुकाम पर हैं वो किसी को बताने की जरूरत नहीं हैं। हिंदी में हेल्प के जरिए लाखों लोगो को फ़ायदा मिल रहा हैं।

hindimehelp.com की Ranking

Global Rank –137,737

Rank in India – 11,174

रोहित जी कभी अपनी इनकम शेयर नहीं करते हैं लेकिन हाँ उनकी मंथली इनकम 6 digit में हैं। रोहित जी का मूल मंत्र यही हैं की मेहनत करो और अपनी मेहनत पर भरोसा  करो। 

इसे भी पढ़े :-पाॅजिटिव लाइफ – नजरिया बदलना है जरूरी

दोस्तों अगर आप को हमारी पोस्ट पसन्द आई हो तो शेयर करना न भूले। और किसी भी प्रकार का कोई सवाल हो तो आप निचे कमेन्ट बॉक्स लिख कर हमसे पूछ सकते हैं। 

loading...

Recommended For You.

नौकरी या बिजनेस क्या हैं बेहतर और क्यों ??/ https://hindiuse.in/नौकरी-या-बिजनेस/ ‎
नौकरी या बिजनेस क्या हैं बेहतर और क्यों ?? दोस्तों आप सभी का एक बार फिर से www.hindiuse.inमें बहुत-बहुत स्वागत हैं।
9 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *